FDI

भारत सरकार ने FDI पॉलिसी में किये नए बदलाव- इकोनॉमिक टाइम्स से एक उच्च आयोग अधिकारी ने कहा- “E-commerce website पर बिकने वाली वस्तुओ की कीमत पर FDI पॉलिसी में किये गए बदलाव से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से फर्क नहीं पड़ेगा, बड़ी कम्पनियो ने E-commerce websites के माध्यम से भारी डिस्काउंट दिए जिसके कारण स्वदेशी कम्पनियो के व्यापारियों को काफी नुकसान हुआ है जिसकी काफी शिकायते मिली है। ”

भारत सरकार के FDI में किये गए बदलाव १ फरवरी से लागू होंगे। इन बदलाव से भारतीय कम्पनियो और भारतीय मोबाइल apps जिनमे विदेशी कम्पनियो का इन्वेस्टमेंट नहीं है उनको बढ़ावा मिलेगा।

FDI पॉलिसी के बदलाव कुछ इस प्रकार है-

नई पॉलिसी में कोई भी विदेशी कंपनी जो स्वदेशी E-commerce वेबसाइट से जुडी है वो अपने प्रोडक्ट स्वदेशी E-commerce वेबसाइट पर नहीं बेच सकती। Walmart ने Flipkart के ७७% शेयर १६ बिलियन डॉलर में ख़रीदे है वह भी अपने प्रोडक्ट फ्लिपकार्ट पर नहीं बेच सकती। इसी तरह Cloudtail जो Amazon के साथ जुडी है वह भी अपने प्रोडक्ट Amazon पर नहीं बेच सकती।

२. नए नियमो के अनुसार E-commerce वेबसाइट एक seller से ज्यादा से ज्यादा सिर्फ २५% प्रोडक्ट ही खरीद सकती है।

३. E-commerce कम्पनियाँ किसी भी वेंडर के साथ भेद-भाव नहीं कर सकती।

FDI पॉलिसी में बदलाव के कारण Big Billion Days और Amazon प्राइम जैसी सर्विसेज पर असर पड़ेगा और कम्पनियाँ कैशबैक, कूपन और भारी डिस्काउंट भी नहीं दे पायेंगी। Amazon fulfilled और Flipkart Assured जैसी सर्विसेज बंद हो सकती है।

इन नियमो से भारतीय E-कॉमर्स कम्पनियाँ फायदे में रहेंगी जिनमे बड़ी विदेशी कम्पनियो ने निवेश नहीं किया है और भारतीय रिटेलर की दुकानों में ग्राहक वापस आने लगेंगे। जिसके कारण छोटी E-commerce websites अब Amazon और Flipkart से प्रतिस्पर्धा कर सकती है।

तो आइये यही समय है हम भारतीयों ने जो पैसा कमाया है उसे भारत में ही रखें और हमारे देश के Retailers और Entrepreneurs को बढ़ावा दें।

भारत की E-Commerce कम्पनियाँ जैसे कि Wibrate, Cubber इत्यादि आपकी जरूरतों को पूरा करते है हमें इन कंपनियों को बढ़ावा देना चाहिए। आज हम दुनिया की सबसे बड़ी लोकशाही है

चीन ने Amazon, Google, Whats app, Facebook और YouTube सभी पर रोक लगाया हुआ है उनकी जगह उन्होंने Alibaba.com, We-chat और बाकी चाइनीज़ apps को बढ़ावा दिया है हमे चीन से कुछ प्रेरणा लेना चाहिए ।

यदि हम भी ऐसा करे तो देश की GDP और देश में रोजगारी बढ़ेगी।

ज्यादा जानकारी के लिए आप यहाँ पढ़े.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *